पुरस्कारों के नामांकन लिए सरकार ने लॉन्च किया पोर्टल, बताई पद्म अवॉर्ड के लिए आखिरी तारीख

सरकार की तरफ से दिए जाने वाले पुरस्कारों के लिए आवेदन और अनुशंसा के लिए सरकार ने एक पोर्टल लॉन्च किया है। इस पोर्टल पर सभी पुरस्कारों के लिए आवेदन किए जा सकते हैं। बता दें कि अलग-अलग मंत्रालय, विभाग और एजेंसियां कई तरह के पुरस्कार देती हैं। सरकार का कहना है कि पोर्टल  से पारदर्शिता और जनता का सहयोग दोनों ही बना रहेगा। वहीं गृह मंत्रालय ने विज्ञप्ति जारी कर यह भी बताया है कि पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन और अनुशंसा की आखिरी तारीख 15 सितंबर है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ‘यह पोर्टल सभी नागरिकों और संगठनों को नामांकन की सुविधा देता है।’ केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कारों की आखइरी तारीख का ऐलान करते हुए कहा कि राष्ट्रीय पुरस्कार पोर्टल से भी नामांकन स्वीकार किए जाएंगे। बता दें कि पद्म पुरस्कारों के अंतरगत पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री आते हैं। 2023 के गणतंत्र दिवस के मौके पर पुरस्कार दिए जाएंगे।

बयान में कहा गया, यह पुरस्कार कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान और इंजीनियरिंग, सार्वजनिक कार्य, नागरिक सेवाओं, व्यापार और उद्योग जैसे सभी क्षेत्रों/विषयों में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों/सेवाओं के लिए ‘उत्कृष्ट कार्य’ को मान्यता प्रदान करने के लिए प्रदान किए जाते हैं। जाति, व्यवसाय, पद या लैंगिक भेदभाव के बिना सभी व्यक्ति इन पुरस्कारों के लिए पात्र हैं। डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर सार्वजनिक उपक्रमों में काम करने वाले सरकारी कर्मचारी पद्म पुरस्कार के लिए पात्र नहीं हैं।

बयान के मुताबिक, सरकार पद्म पुरस्कारों को “लोगों का पद्म पुरस्कार” में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है। अत: सभी नागरिकों से अनुरोध है कि वे स्वयं नामांकन सहित नामांकन/अनुसंशा प्रेषित करें। ऐसे प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने के लिए ठोस प्रयास किए जाने चाहिए जिनकी उत्कृष्टता और उपलब्धियों को वास्तव में महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति, दिव्यांग व्यक्तियों में से पहचाना जाना चाहिए और जो समाज की निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं।

पोर्टल www.awards.gov.in पर अभी और भी कई पुरस्कारों के नामांकन स्वीकार किए जा रहे हैं। इनमें गोपाल रत्न अवॉर्ड, नेशनल अवॉर्ड फॉर सीनियर सिटिजन, नेशनल अवॉर्ड फॉर इंडिविजुअल एक्सेलेंस 2021 और 2022, नेशनल अवॉर्ड फॉर इंस्टिट्यूशन एंगेज्ड इन एंपावरिंग पर्सन्स विद डिसएबिलिटीज 2021 और 2022, नेशनल सीएसआर अवॉर्ड, नारी शक्ति पुरस्कार, सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार और जीवन रक्षा पुरस्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.