21 साल में रिटायर होने वाले की तो शादी भी नहीं होगी…अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में बोले कांग्रेस अध्यक्ष करण माहरा

सेना की नई भर्ती योजना अग्निपथ के विरोध में कांग्रेस ने प्रदेश में विधानसभा स्तर पर सत्याग्र किया। कांग्रेस ने केंद्र सरकार से इस योजना को तत्काल वापस लेने की मांग की। योजना के वापस होने तक सत्याग्रह जारी करेगा। देहरादून में प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने गांधी पार्क के सामने धरना देते हुए सत्याग्रह किया।

जबकि पूर्व सीएम हरीश रावत मसूरी विधानसभा क्षेत्रमें गढ़ी कैंट में सत्याग्रह में शामिल हुए। सोमवार को राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में करन ने दावा किया कि सत्याग्रह कार्यक्रम ऐतिहासिक रूप से सफल रहा है। हर विधानसभा क्षेत्र में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सत्याग्रह के जरिए अग्निपथ योजना का विरोध किया।

माहरा ने कहा कि यह योजना देश की सीमाओं के खिलाफ घातक और आंतरिक सुरक्षा को लेकर भी कई शंकाएं पैदा कर रही है। महज चार साल की नौकरी में कोई युवक भला सैनिक के रूप में कैसे प्रशिक्षित हो सकता है? और जब यह युवा हर प्रकार के हथियारों का इस्तेमाल सीखकर रिटायर होकर लौटेगा तो असमाजिक तत्व उसे गलत राह पर भी डाल सकते हैं।

माहरा न कहा कि बात यहीं तक नही हैं। जो युवक अग्निवीर बनकर चार साल बाद रिटायर होकर आएंगे, उनका भविष्य क्या होगा? इन बच्चों की शादी होना भी मुश्किल है। भला कौन पिता अपनी बेटी ऐसे युवक को देगा जो 21 साल की उम्र में ही रिटायर हो गया हो? इसी प्रकार भाजपा और भाजपा समर्थित लोग दावे कर रहे हैं कि रिटायरमेंट के वक्त अग्निवीर को साढ़े ग्यारह लाख रुपये की रकम मिलेगी।

लेकिन आज के दौर में इतने रूपये में तो एक टैक्सी तक न आएगी। यह योजना न देश की रक्षा के उद्देश्य का पूरा करने वाली है और न ही युवाओं को रोजगार देगी। इस योजना को तत्काल वापस लेकर केंद्र सरकार केा सेना में भर्ती की पुरानी व्यवस्था ही लागू रखनी चाहिए।

हर दिन दो लोगों को केंद्र सरकार के खिलाफ जागरूक करें कांग्रेसी:  माहरा
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने पार्टी कार्यकर्ता को नई जिम्मेदारी दी है। हर रोज आधा से एक घंटा तक कांग्रेस कार्यकर्ता कम सेकम से दो लोगों को केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के प्रति जागरूक करेंगे। मीडिया से बातचीत में माहरा ने कहा कि आज देश अजीब से दौर से गुजर रहा है। हर सेक्टर में देश पिछड़ रहा है। महंगाई, बेरेाजगारी, भ्रष्टाचार लगातार बढ़ रहे हैं।

सरकारी संपत्तियों को निरंतर बेचा जा रहा है। कुछ उद्योगपति मित्रों के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश को तॉक पर रख दिया है। ऐसे में कांग्रेस की जिम्मेदारी है कि वो प्रत्येक देशवासी को सच्चाई से रूबरू कराए। माहरा ने कहा कि महज एक दिन के सत्याग्रह से असर नहीं पड़ने वाला। कांग्रेस कार्यकर्ता प्रति दिन कम से एक घंटा तक न्यूनतम दो लोगों को केंद्र की जन और देश विरोधी नीतियों के प्रति जागरूक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.