बेटे के दोस्त ने लोन गारंटी के नाम पर बुजुर्ग महिला से ठगे पांच लाख रूपये, मामला दर्ज

पटेल नगर कोतवाली स्थित थाने में लोन गारंटी के नाम पर बुजुर्ग महिला से पांच लाख रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने बुजुर्ग महिला की शिकायत पर उत्तराखंड ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबंधक समेत छह व्यक्तियों पर धोखाधड़ी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने लोन गारंटी के नाम पर महिला से पांच लाख रुपये ठगे थे। इसके बाद भी आरोपियों की ओर से महिला पर किसी अन्य का लोन भरने का दबाव बनाया जा रहा था। इस मामले की खबर मिलते ही पुलिस जांच में जुट गई है।

गारंटर बनाकर ठगे 5, लाख

पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार, खुड़बुड़ा मोहल्ला निवासी अनीता रानी ने बताया कि कन्हैया विहार, कारगी निवासी वैभव जैन उनके बेटे का दोस्त था और उनके घर पर आता-जाता था। एक दिन उसने कहा कि उसे अपना कारोबार करने के लिए लोन की जरूरत है। जिसमें दो गारंटर चाहिए। एक गारंटर तो उसकी चाची रुचिका जैन है, दूसरी वे बन जाएं। पीड़िता को विश्वास में लेते हुए उसने ये भी कहा कि गारंटी के तौर पर वह कारगी स्थित प्लाट बैंक में गिरवी रख रहा है। जिस पर अनीता रानी मान गईं। दोनों गारंटरों के साइन के बाद वैभव ने उत्तराखंड ग्रामीण बैंक की जाखन शाखा से पांच लाख का लोन ले लिया।

धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

मुकदमे के अनुसार- वैभव ने बैंक के शाखा प्रबंधक से मिलकर गिरवी रखा प्लॉट धोखे से उत्तरकाशी निवासी मंजू देवी को बेच दिया। इसके बाद वैभव अपनी मां के साथ गायब हो गया। अब बैंक ने अनीता की आरसी निकालकर उन्हें पूरा लोन भरने को कहा। इसके बाद अनीता के खाते से रकम काट ली गई।

अनीता ने आरोप लगाया कि जब प्रापर्टी गिरवी थी तो उसे बिना बैंक की जानकारी के कैसे बेच दिया गया। शिकायत पर पुलिस ने वैभव जैन, रुचिका जैन, अरिहंत जैन, मंजू देवी, उनके पति दिनेश बिष्ट और बैंक के शाखा प्रबंधक के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.