कौथिग में पहुंचे मुख्‍यमंत्री धामी, कहा- साहित्य सृजन और पठन पाठन में मील पत्थर बनेगा यह आयोजन

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अटल उत्कृष्ट जीजीआइसी परिसर में टनकपुर में लगे अब तक के सबसे बड़े पुस्तक मेला कौथिग में पहुंचकर यहां लगे पुस्तकों के स्टाल का निरीक्षण किया।

उन्होंने कहा कि टनकपुर में लगा पुस्तक मेला कौथिग अपने आप में अनूठा है। मेले में लगे पुस्तकों के स्टाल को देखकर उन्हें सुखद अनुभूति हुई है। यह पुस्तक मेला युवाओं, छात्रों एवं साहित्य प्रेमियों में सृजन, लेखन और पठन पाठन की अभिरुचि पैदा करेगा।

रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए

इससे पूर्व कस्तूरबा गांधी और जीजीआइसी की छात्राओं ने स्वागत गीत के साथ कई रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। रविवार को मुख्यमंत्री धामी चंपावत जनपद के टनकपुर पहुंचे और विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। टनकपुर में बने अस्थायी हेलीपैड में निर्धारित समय से एक घंटे की देरी से अपराह्न 2:25 बजे पहुंचे सीएम के स्वागत के लिए हेलीपैड में भाजपा कार्यकर्ताओं की भीड़ इंतजार कर रही थी। हेलीपैड में उतरने ही कार्यकर्ताओं ने उनका माल्यार्पण कर स्वागत किया।

यहां से सीएम सीधे जीजीआइसी पहुंचे और पुस्तक मेला कौथिग में लगी पुस्तकों के स्टालों का निरीक्षण किया, जहां देश के 50 से अधिक प्रकाशकों की पुस्तकें रखीं हुई थीं। सीएम ने कहा कि टनकपुर में लगा पुस्तक मेला कौथिग राज्य के अन्य जिलों के लिए प्रेरणा बनेगा। यहां भारत के पड़ोसी देश नेपाल के भी प्रकाश आए हुए हैं। इसके अलावा राज्य के बड़े प्रकाशक, साहित्यकार एवं बुद्धिजीवी भी मेले में शिरकत कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने टनकपुर में सरकारी पुस्तकालय खोलने की घोषणा की। सीएम ने कहा कि आज देश के लिए गौरव का दिन है, क्योंकि पूरे भारत में भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की जयंती को सुशासन दिवस के रूप में मना रहा है। अटल जी खुद में साहित्यकार एवं कवि थे। उत्तराखंड राज्य की स्थापना अटल जी ने ही की थी। भारत परमाणु शक्ति संपन्न देश उन्हीं के शासन में बना था। उन्होंने कहा कि पूरा देश आज बाजपेयी जी को श्रद्धासुमन अर्पित कर रहा है।

इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष निर्मल मेहरा, वरिष्ठ नेता शिवराज कठायत, पूर्व दर्जा मंत्री हयात सिंह माहरा, पूर्व जिलाध्यक्ष दीप चंद्र पाठक, हेमा जोशी, भास्कर मुरारी, विद्या जुकरिया, मुकेश कलखुडिय़ा, सूरज प्रहरी, गोविंद सामंत, दीपक रजवार, सुभाष थपलियाल, पूर्व सैनिक संगठन के अध्यक्ष कै. भानीचंद सहित दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता एवं सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.