कुर्सी का मोह नहीं छोड़ पा रहे कई पदाधिकारी, पार्टी ने जारी की इनकी सूची

कांग्रेस पार्टी में कुर्सी की खींचतान नई बात नहीं है। बीते दिनों देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष की विदाई और कार्यकारी अध्यक्ष को कमान सौंपने के बाद यह विवाद और गहरा गया है। पार्टी के भीतर वर्षों से पदों पर जमे कई पदाधिकारियों को लेकर सवाल उठ रहे हैं तो नए कार्यकारी अध्यक्ष भी कुर्सी की बाट जोह रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से बीते माह 19 नवंबर को 17 कार्यकारी जिलाध्यक्षों और महानगर अध्यक्षों की सूची जारी की गई थी। इनमें से कुछ स्थानों पर जिलाध्यक्षओं और महानगर अध्यक्षों ने स्वयं से इस्तीफा देकर कमान नए कार्यकारी अध्यक्षों को सौंप दी है, जबकि कुछ अभी भी पार्टी की ओर से पत्र मिलने का इंतजार कर रहे हैं। पार्टी सूत्रों की मानें तो एक बार कार्यकारी अध्यक्ष के नाम की घोषणा होने के बाद पुराने अध्यक्ष स्वत: पद छोड़ देते हैं। फिलहाल खेमों में बंटी कांग्रेस में ऐसा नहीं हो रहा है।

नाम नहीं छापने की शर्त पर कुछ पुराने अध्यक्षों ने बताया कि वह निर्वाचित होकर अध्यक्ष बने हैं। एआईसीसी के चुनाव प्राधिकरण की ओर से उन्हें बकायदा नियुक्ति पत्र जारी किया गया है। उन्हें ऐसे ही नहीं हटाया जा सकता है। दूसरी ओर यदि उदयपुर में हुए चिंतन शिविर में लिए गए निर्णयों के अनुसार पुराने पदाधिकारियों को हटाने की कार्रवाई की जा रही है तो यह नियम सभी पर लागू होता है। उनका कहना है कि अभी जो लिस्ट आई है, उसे जारी करने से पहले पार्टी चुनाव प्राधिकरण की संस्तुति भी नहीं ली गई है।

इन्हें सौंपी गई है कार्यकारी जिला अध्यक्ष की कमान 

अल्मोड़ा में भूपेंद्र मोज, बागेश्वर में भगत सिंह डसीला, चमोली में मुकेश नेगी, पछवादून में लक्ष्मी अग्रवाल, महानगर देहरादून डॉ. जसविंदर सिंह गोगी, महानगर हरिद्वार में सतपाल ब्रह्मचारी, हरिद्वार ग्रामीण में राजीव चौधरी ,रुड़की ग्रामीण में वीरेंद्र जाति, नैनीताल में राहुल छिमवाल, पिथौरागढ़ में अंजू लूंठी, डीडीहाट में मनोहर टोलिया, रुद्रप्रयाग में कुंवर सिंह सजवाण, महानगर काशीपुर में मुशर्रफ हुसैन, रुद्रपुर में सीपी जोशी, ऊधमसिंह नगर में हिमांशु गावा, उत्तरकाशी में मनीष राणा और पुरोला में दिनेश चौहान का नाम शामिल है। इनमें से कुछ जगहों पर नए अध्यक्षों ने पद संभाल लिया है, जबकि कुछ जगहों पर पुराने अब भी अड़े हैं।

मैं हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष के तौर पर कार्य कर रहा हूं, लेकिन अब पार्टी ने नैनीताल जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंप दी है। पुरानी जिम्मेदारी से जिस दिन कहेंगे त्यागपत्र दे देंगे।
– राहुल छिमवाल, कार्यकारी जिलाध्यक्ष, नैनीताल

काशीपुर में पार्टी की ओर से कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर मुशर्रफ खान को जिम्मेदारी सौंपी गई है। पार्टी जिस दिन कहेगी, पद छोड़ दूंगा। फिलहाल में महानगर अध्यक्ष के तौर पर कार्य कर रहा हूं।
– संदीप सहगल, महानगर अध्यक्ष काशीपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.