यूपी पुलिस की ग्रामीणों के साथ भिड़ंत, फायरिंग में महिला की मौत, छह पुलिसकर्मी घायल

मुरादाबाद के डीआईजी शलभ माथुर के अनुसार, ग्रामीणों ने पुलिस टीम को बंधक बना लिया और फायरिंग की। गोली लगने से दो और संघर्ष में चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। ग्रामीणों का आरोप है कि यूपी पुलिस की फायरिंग में ड्यूटी कर घर लौट रही गुरजीत को गोली लग गई। उसे निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां मृत घोषित कर दिया गया।
गुस्साए लोगों ने राजमार्ग किया जाम, अफसरों से झड़प

महिला की मौत से नाराज स्थानीय लोगों ने कुंडा थाने के सामने राष्ट्रीय राजमार्ग  को जाम कर दिया। वे पुलिसवालों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। तनाव के मद्देनजर ऊधमसिंह नगर और नैनीताल जिले की पुलिस फोर्स मौके पर बुला ली गई। इस दौरान गुस्साए लोगों की अफसरों से तीखी झड़प हुई। देर रात तक ग्रामीण धरने पर बैठे थे।

दोषी बख्शे नहीं जाएंगे 
ऊधमसिंह नगर पुलिस को गंभीरता से जांच के निर्देश दिए हैं। पहले गोली किसने चलाई, यह भी जांच की जा रही है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।
-अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड

बंधक बनाकर छीने हथियार

माफिया जफर की तलाश में ठाकुरद्वारा के पास घेराबंदी की तो वह उत्तराखंड के भरतपुर पहुंच गया। वहां गई हमारी टीम को बंधक बना लिया गया। उनके हथियार भी छीन लिए गए।
-शलभ माथुर, डीआईजी, मुरादाबाद 
एसओजी प्रभारी समेत पांच लापता पुलिसकर्मी बाद में मिले
टीम पर हमले के बाद पुलिसकर्मियों के तीन शस्त्र भी गायब हैं। एसओजी प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मी लापता बताए गए, लेकिन बाद में वे मिल गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.