यह तो हद हो गई! सरकारी चावल में चूहे का मल, कंकड़ की भरमार

बरेली रोड स्थित आरएफसी गोदाम से गंदगी से भरे चावल की सप्लाई हो रही है। शनिवार को ‘हिन्दुस्तान’ की पड़ताल में यह बात खुले रूप में सामने आई। ‘हिन्दुस्तान’ टीम जब आरएफसी गोदाम पहुंची तो यहां से सस्ता गल्ला दुकानों के लिए चावल और गेहूं की सप्लाई हो रही थी। इसी बीच एक हॉल में मजदूर जमीन पर पड़े चावल बोरों में भर रहे थे। जिसमें काफी मात्रा में चूहे का मल और कंकड़ आदि मिले हुए थे।

वहीं शाम को आरएफसी कुमाऊं संभाग ने गोदाम का निरीक्षण कर चावल के सैंपल देखे और शिकायत आने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। हल्द्वानी आरएफसी गोदाम से नैनाताल जिले की सस्ता गल्ला दुकानों में चावल, गेहूं आदि की सप्लाई होती है। इन दिनों जनवरी माह के लिए राशन की सप्लाई हो रही है।शनिवार को गोदाम में फटे हुए बोरों से चावल जमीन में बिखरा पड़ा था।

जिसमें चूहों का मल और कंकड़ मिले हुए थे। इसके अलावा बाहर से जूते, चप्पल पहनकर आए मजदूर चावल के ऊपर चढ़कर इन्हें बोरों में भर रहे थे। यहां पर गोदाम की देखरेख के लिए सरकारी कर्मचारी के अलावा उपनल से कर्मचारी रखे गए हैं। हर कोई खानापूर्ति की ड्यूटी कर, गंदगी-कंकड़ की भरमार वाले चावल बोरों में भर रहे थे।

चावल में गंदगी देख कर्मचारियों को लगाई लताड़
आरएफसी कुमाऊं संभाग हरबीर सिंह भी शनिवार शाम अचानक आएफसी गोदाम पहुंच गए। इस दौरान उन्हें मिली शिकायत पर उन्होंने चावल के सैंपल लिए। इसके बाद गोदाम में तैनात कर्मचारियों को गंदगी को लेकर लताड़ लगाई। हालांकि सैंपल के दौरान उन्हें बोरों में साफ चावल दिखाया दिया।
इसके बाद उन्होंने कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी कि अगर किसी भी दुकान या कार्ड धारक से शिकायत मिली तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। घरों में पहुंचने वाले अनाज में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी।

दुकानदार भी नाराज:इस दौरान गौलापार से आए एक सस्ता गल्ला दुकानदार का कहना था कि इस तरह के चावल आने से राशनकार्ड धारक उन्हें खरी-खोटी सुनाकर चले जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.