हरीश रावत के पोस्टल बैलेट वीडियो पर BJP का पलटवार, अध्यक्ष मदन कौशिक बोले-फर्जी है

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने दावा किया कि पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता हरीश रावत ने सैनिकों के डाक मतपत्रों का फर्जी वीडियो वायरल करने का आरोप लगाया है। विधानसभा चुनाव के मतदान संपन्न होने के बाद बुधवार को कौशिक पहली बार भाजपा प्रदेश मुख्यालय पहुंचे।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके नेताओं में सेना और संवैधानिक संस्थानों का अपमान करने की होड लगी है | पूर्व सीएम हरीश रावत का ट्वीट के साथ जारी वीडियो भी इसी परंपरा का हिस्सा बताया है | कहा कि राजनैतिक विद्धेष के चलते ही उनके शीर्षस्थ नेता ने सैनिकों के डाक मतपत्रों का फर्जी विडियो जारी किया है ।

कौशिक ने कहा कि बिना किसी पुख्ता प्रमाण और जांच के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का सैनिकों के मतदान को लेकर चुनाव की गोपनीय प्रक्रिया का वीडियो वायरल करना भारतीय सेना का अपमान है।  जो साबित करता है कि कल तक दिवंगत जनरल विपिन रावत के कट आउट लगाकर प्रचार करना, कांग्रेस पार्टी का वीर जवानों के प्रति सम्मान का ढकोसला मात्र था।

उन्होंने कहा कि जैसे- जैसे सभी विधानसभा बूथों से जमीनी हकीकत सामने आ रही है, वैसे- वैसे भाजपा की सत्ता में वापिसी तय हो गई है | अब चूंकि कांग्रेस को भी इसका बखूबी अंदाज़ा हो गया है, इसलिए वह हमेशा की तरह ईवीएम में छेड़छाड़ व डाकपत्रों में धांधली को लेकर बगैर सिर पैर के आरोप लगाने लगी है।

भितरघात पर सही समय पर लेंगे एक्शन
पार्टी में भितरघात को लेकर पूछे गए सवाल के जबाब में कौशिक ने कहा कि सभी बाते पार्टी संगठन के संज्ञान में है। सही समय पर उचित कारवाई की जाएगी । विधायकों और प्रत्याशियों को पार्टी फोरम में ही अपनी बात रखनी चाहिए। विदित है लक्सर के विधायक संजय गुप्ता ने प्रदेश अध्यक्ष कौशिक पर ही भितरघात का आरोप लगाया था। इसके बाद चंपावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी, काशीपुर के हरभजन सिंह चीमा और यमनोत्री विधायक केदार रावत ने स्थानीय नेताओं पर चुनाव में भितरघात के आरोप लगाने शुरू किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.